Madhya Pradesh: पहली कैबिनेट बैठक में अतिथि शिक्षकों को नियमित किया जाएगा – कमलनाथ

भोपाल | पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अतिथि शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के बाद कैबिनेट की पहली बैठक में अतिथि शिक्षकों को नियमित करने का संकल्प लिया है।
मुख्यमंत्री बनते ही कैबिनेट की पहली मीटिंग में अतिथि शिक्षकों को रेगुलर किया जाएगा यह पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ

पहली कैबिनेट बैठक में ही अतिथि शिक्षकों को करेंगे नियमित – कमलनाथ 
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने अतिथि शिक्षकों के प्रतिनिधि मंडल से मुलाक़ात कर सरकार बनते ही कैबिनेट की पहली बैठक में अतिथि शिक्षकों को नियमित करने का वचन दिया है।
जो कहते हैं, वो करते हैं,
ऐसे हैं हमारे कमलनाथ। pic.twitter.com/8sTwLV4SgO

— MP Congress (@INCMP) July 22, 2020
आज पूरे देश में कांग्रेस और बीजेपी की राजनीति सियासी मुठभेड़ को लेकर कांग्रेस सरकार और केंद्र में बैठी बीजेपी सरकार को तो कम ही लग रहा है सत्ता की भूख ने इस तरह से कब्जा किया है कि, उसको पता ही नहीं की-
  • जनता क्या है ? 
  • उसकी समस्या क्या है ?
  • आज देश की हालत क्या है ?
केंद्र सरकार और एमपी की सरकार को कोई फर्क नहीं पड़ता नतीजा करुणा जैसे व्याप्त महामारी आज पूरा देश एक साथ लड़ रहा है तो वही, मध्य प्रदेश की राजनीति और राजस्थान की राजनीति केंद्र में बैठी सरकार बीजेपी सरकार अपने घमंड में चूर इस तरह से हो चुकी है की उसे कोई कुछ भी कह दे फर्क नहीं पड़ता। 
कोई मतलब नहीं कि उसके देश मेंकोरोना के कितने पेसेंट रोज मिलते हैं।  उनके लिए क्या उपचार किया जाए ? 
आज हमारा देश विश्व में तीसरे स्थान पर है कुछ लोगों का कहना होगा यह तो अच्छी बात है कि हमारा देश तीसरे स्थान पर है शायद मोदी सपोर्टर हो सकते हैं , लेकिन उन्हें यह नहीं पता कि किधर से तीसरे नंबर पर?

राजस्थान की सरकार गिराने के चक्कर में है बीजेपी 

आज देश में बीजेपी की तानाशाही इस कदर हो चुकी है की सरकार किसी की हो राजनीति इस तरह से करनी है कि उसका उस राज्य का राइट हैंड ही छीन ली जाए। यही राजनीति मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के साथ हुई और राजस्थान में सचिन पायलट के साथ अशोक गहलोत की सरकार गिराने में जुटी बीजेपी सरकार। 
सूत्रों के मुताबिक बीजेपी ने उनके कार्यकर्ताओं को वह सकते हैं की 35 करोड़ रुपए में कांग्रेस के विधायकों को खरीदने का ऑफर मिला कुछ एक्सेप्ट करेंगे कुछ रिजेक्ट करेंगे। उन सभी को मिला होगा जो पूरी तरह से कांग्रेस की राजनीति कैरियर में संतुष्ट नहीं रहे। इसी तरह जैसे मध्यप्रदेश में कांग्रेस के विधायकों को होटल के बंद कमरे में से विधायक अपना इस्तीफा दे देते हैं। क्या पता कि उन्हें बंदी बनाकर, डरा धमका कर या फिर रिश्वत देकर खरीदा जाता है। 
खबरों के लिए इस न्यूज़ को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और अपडेट्स पाते रहें।
https://www.updated24.com/

Comment