Kerala Air India crash: केरल एयर इंडिया क्रैश, मायावती ने जवानों को दी शाबाशी, पीएम मोदी ने कोझीकोड एयरपोर्ट पर हुए हादसे पर सीएम पिनाराई विजयन से बात की

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने प्रधानमंत्री को सूचित किया कि कोझीकोड और मलप्पुरम के जिला कलेक्टरों और महानिरीक्षक अशोक यादव सहित अधिकारियों की एक टीम हवाई अड्डे पर पहुंची और बचाव अभियान में भाग लिया।

plane cresh news
केरल एयर इंडिया क्रैश, पीएम मोदी ने कोझीकोड एयरपोर्ट पर हुए हादसे पर सीएम पिनाराई विजयन से बात की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन से कोझिकोड हवाई अड्डे पर विमान दुर्घटना के बारे में बात की है। 

प्रधान मंत्री ने केंद्र को सभी प्रकार से सहायता का वादा किया

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को सूचित किया कि कोझीकोड और मलप्पुरम के जिला कलेक्टरों और महानिरीक्षक अशोक यादव सहित अधिकारियों की एक टीम हवाई अड्डे पर पहुंची और बचाव अभियान में भाग लिया।

बहन कुमारी मायावती जी ने सैनिकों को जान दे कर जान बचाने पर शाबाशी दी। 

केरल में कलरात दुर्घटनाग्रस्त एयर इण्डिया के पायलटों द्वारा अपनी जान देकर विमान में सवार 190 में से अधिकतर यात्रियों की जान बचाने के लिए उनकी बेमिसाल दक्षता, सूझबूझ व बहादुरी को सलाम। केन्द्र व राज्य सरकार से अपील है कि वे ऐसे सपूतों की कुर्बानी को पूरा आदर-सम्मान जरूर दे।

— Mayawati (@Mayawati) August 8, 2020

अस्पष्ट रिपोर्टें सामने आई हैं कि पायलट सहित कुछ लोगों की मौत हो गई है। कई लोग घायल हो गए, रिहाई ने कहा।

विजयन ने प्रधानमंत्री को सूचित किया कि राज्य सरकार ने घायल व्यक्तियों को उपचार प्रदान करने के लिए कदम उठाए हैं और अन्य सुविधाएं प्रदान कर रही हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि Emergency (आपातकाल) से निपटने के लिए राज्य सरकार के सभी तंत्रों का उपयोग किया जाएगा।

एयर इंडिया एक्सप्रेस दुबई-कोझिकोड IX-1344 उड़ान, वंदे इंडिया मिशन के तहत दुबई से 190 लोगों को ले जा रही थी, जब वह शुक्रवार शाम कोझीकोड के करिपुर हवाई अड्डे पर उतरी।

हादसा शाम 7:41 बजे हुआ।

एयर इंडिया एक्सप्रेस के एक प्रवक्ता ने एएनआई को बताया कि विमान ने 174 यात्रियों, 10 शिशुओं और दो पायलटों और चालक दल के चार सदस्यों को ले जाया।

उन्होंने कहा कि “कोझिकोड हवाई अड्डे पर उतरते समय विमान में आग लगने की कोई सूचना नहीं थी”

अधिकारियों ने कहा कि रनवे 10 पर उतरने के बाद भारी बारिश के कारण दृश्यता 2,000 मीटर थी और विमान रनवे के अंत तक जारी रहा।

भारत के विमानन चौकीदार ने घटना की विस्तृत जांच का आदेश दिया।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय (MoCA) ने कहा कि लैंडिंग के समय आग नहीं लगी थी।

एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान ने कहा कि बचाव कार्यों के लिए एनडीआरएफ की टीमों को करिपुर हवाई अड्डे पर ले जाया जा रहा है।

खबरों के लिए इस न्यूज़ को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और अपडेट्स पाते रहें।
https://www.updated24.com/

Comment