India: चाइना विवाद के बीच 33 एडवांस जेट फाइटर विमान खरीदेगा भारत, ₹38900 करोड़ की मिली मंजूरी, जानिए कहां से?

नई दिल्ली: चीन के साथ चल रहे गतिरोध के बीच भारत ने अपनी शक्ति बढ़ाने के लिए करोड़ों रुपये के रक्षा सौदे को मंजूरी दे दी है। रूस भारत को पुराने मिग -29 विमानों के उन्नयन के साथ-साथ भारत को 33 नए लड़ाकू विमान प्रदान करेगा। भारत ने रूस के साथ 38,900 करोड़ रुपये के रक्षा सौदे को मंजूरी दी है। रक्षा मंत्रालय ने रक्षा सौदे के बारे में जानकारी दी है।
India buying fighter get from Rus, updated 24 news

Updated 24 News

Report: Rajendra Kumar Shah
चीन के साथ सीमा पर तनाव बढ़ गया, रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को सैन्य बलों की युद्धक क्षमता बढ़ाने के लिए 38,900 करोड़ रुपये की लागत से कुछ अग्रिम फाइटर जेट्स, मिसाइल सिस्टम और अन्य हथियारों की खरीद को मंजूरी दे दी। अधिकारियों ने कहा कि 21 मिग -29 K लड़ाकू जेट रूस से खरीदे जाएंगे, जबकि 12 SU-30 MKI विमान हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल लिमिटेड से खरीदे जाएंगे।
मंत्रालय ने मौजूदा 59 मिग -29 विमानों को अपग्रेड करने के लिए एक अलग प्रस्ताव को भी मंजूरी दी है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में रक्षा खरीद परिषद (डीएसी) की बैठक में ये निर्णय लिए गए। अधिकारियों ने कहा कि 21 मिग -29 फाइटर जेट्स और मिग -29 के मौजूदा बेड़े को अपग्रेड करने के लिए अनुमानित 7,418 करोड़ रुपये खर्च होंगे।
जबकि, हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल लिमिटेड से 12 नए एसयू -30 एमकेआई विमानों की खरीद पर 10,730 करोड़ रुपये खर्च होंगे। डीएसी ने नौसेना और वायु सेना के लिए 1,000 किलोमीटर की रेंज के साथ ‘लैंड अटैक क्रूज मिसाइल सिस्टम’ और हथियार मिसाइलों की खरीद को भी मंजूरी दी है। अधिकारियों ने कहा कि इस संरचना और विकास प्रस्तावों की लागत 20,400 करोड़ रुपये है।
आज, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से फोन पर लंबे समय तक बात की। दोनों नेताओं के बीच कई गंभीर मुद्दों और सकारात्मक समझौता पर चर्चा हुई। बातचीत के दौरान, पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति पुतिन को विजय दिवस की बधाई दी। इस वर्ष 75 वां विजय दिवस मनाया गया। रूस के साथ भारत के संबंधों का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कोरोनोवायरस महामारी के इस दौर में भी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रूस का दौरा किया। उसी समय, भारत की तीनों सेनाओं में से प्रत्येक की एक टुकड़ी ने रूस की विजय दिवस परेड में भाग लिया।

क्या होगी मिसाइल की मारक क्षमता (Density of Missile)

रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, पिनाका मिसाइल प्रणाली से मारक क्षमता भी बढ़ेगी। इसके साथ, 1000 किमी लंबी दूरी की मिसाइल प्रणाली वाली मिसाइल प्रणाली नौसेना और वायु सेना की मारक क्षमता को कई गुना बढ़ा देगी। “इसी तरह, बेड़े में हथियार मिसाइलों को शामिल करने से बल की ताकत बढ़ जाएगी,” उन्होंने कहा। इससे भारतीय नौसेना और भारतीय वायु सेना की मारक क्षमता बहुत बढ़ जाएगी।
बातचीत के समय, पीएम मोदी ने रूस में नए संवैधानिक संशोधन के लिए जनमत संग्रह जीतने के लिए पुतिन को बधाई दी है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, दोनों नेताओं ने COVID-19 वैश्विक महामारी के नकारात्मक परिणामों को उलटने के लिए दोनों देशों द्वारा प्रभावी उपायों पर चर्चा की। कोविद के बाद की दुनिया की चुनौतियों को पूरा करने के लिए भारत और रूस के बीच घनिष्ठ संबंध के महत्व पर भी सहमति हुई।
खबरों के लिए इस न्यूज़ को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और अपडेट्स पाते रहें।
https://www.updated24.com/

Comment