चीन है चिंतित: भारत में हुए 59 Apps बैन होना है वजह, चीन कर रहा है पुरे मामले की जाँच

नई दिल्ली: चीन के विदेश मंत्रालय ने भारत में 59 चीनी ऐप के प्रतिबंध पर चिंता जताई है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा है कि, चीन इस पूरे मामले को लेकर बहुत चिंतित है और पूरे मामले की जानकारी ली जा रही है।
  • चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है- चीन प्रतिबंध, सूचना एकत्र करने को लेकर बहुत चिंतित है। 
  • चीन के विदेश मंत्रालय ने भारत में 59 चीनी ऐप के प्रतिबंध पर चिंता जताई है।
chin ka dar, kya hai china ka mamla, updated24.com
चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा कि चीन इस पूरे मामले को लेकर बहुत चिंतित है और पूरे मामले की जानकारी मांगी जा रही है। गौरतलब है कि कल, मोदी सरकार ने टिक-टॉक सहित 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया है।
चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘हम इस बात पर जोर देना चाहते हैं कि चीनी सरकार हमेशा अंतरराष्ट्रीय और स्थानीय कानूनों और नियमों का पालन करने के लिए चीनी व्यवसायों को बताती है। भारत सरकार चीनी निवेशकों सहित अंतर्राष्ट्रीय निवेशकों के कानूनी अधिकारों को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार है।
मोदी सरकार ने देश की सुरक्षा को खतरा पैदा करने वाले ऐप्स पर कार्रवाई शुरू कर दी है। चीन के केवल 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाया गया है। चीन में अन्य ऐप पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी शुरू कर दी गई है, जिससे देश की सुरक्षा को खतरा हो सकता है। संचार मंत्रालय किसी भी ऐप के डेटा को इंटरसेप्ट करने के लिए इंटरनेट सेवा प्रदाता से पूछ सकता है।

चीनी ऐप्प्स  पर अंतरिम प्रतिबंध लगाया गया है

इन सभी ऐप्स का डेटा अगले एक या दो दिनों में रोक दिया जाएगा। इन ऐप्स को Google Play Store से हटा दिया गया है। उनके अपडेट भी उपलब्ध नहीं होंगे। आपको बता दें कि यह प्रतिबंध अंतरिम है। अब यह मामला एक समिति के पास जाएगा। प्रतिबंधित एप्लिकेशन समिति के समक्ष अपना मामला प्रस्तुत कर सकते हैं, जिसके बाद समिति यह तय करेगी कि प्रतिबंध को जारी रखा जाए या हटाया जाए।
इस बीच, एक और चीनी कंपनी, Huawei भी भारत और चीन के बीच नए तनाव की चपेट में आ सकती है। Huawei भारत में 5G सेवाओं के लिए एक प्रमुख दावेदार है। भारत में 5G की नीलामी फिलहाल एक साल के लिए टाल दी गई है, लेकिन पिछले साल Huawei को 5G ट्रायल में भाग लेने की अनुमति दी गई थी।

हुआवेई पर भी कार्रवाई हो सकती है

Huawei ZET को बाहर रखने के लिए अमेरिका दुनिया भर के देशों पर दबाव बना रहा है। मई 2021 तक अमेरिका में हुआवेई उत्पादों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि कल मोदी सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक में 5G पर चर्चा हुई। बैठक के परिणाम ज्ञात नहीं हुए हैं।
chinis company huawei will go on loss of profit, updated24 news,

गृह मंत्री अमित शाह, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, विदेश मंत्री एस जयशंकर और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल बैठक में शामिल हुए। हुआवेई का भारत में विरोध किया जाता है क्योंकि इसके संस्थापक के पीएलए के साथ संबंध हैं। सीमा विवाद के बाद देश में बदले माहौल में हुआवे के लिए राह मुश्किल होगी।
खबरों के लिए इस न्यूज़ को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और अपडेट्स पाते रहें।
https://www.updated24.com/

Comment